अपने दूसरे दौरे में पहुंचे डोभाल ने लिया जम्मू-कश्मीर की सुरक्षा स्थिति का जायजा

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 तथा 35ए को हटाए जाने को अब करीब दो महीने होने वाले हैं। अब घाटी में कुछ संवेदनशाील स्थानों को छोड़कर बाकी किसी भी जगह कोई पाबंदी नहीं है। इस दौरान पूरी कश्मीर घाटी में सुरक्षाबल पूरी सतर्कता से तैनात हैं। पूरी कश्मीर घाटी में स्थिति फिलहाल शांतिपूर्ण बनी हुई है। जैश-ए-मोहम्मद आतंकी संगठन के हमले की आशंका के बीच बुधवार को श्रीनगर पहुंचे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने गुरुवार को कानून व्यवस्था की संक्षिप्त जानकारी ली।

बुधवार को श्रीनगर पहुंचे सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने सुरक्षा व प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक कर कानून व्यवस्था की संक्षिप्त जानकारी ली। माना जा रहा है कि यहां की सुरक्षा स्थिति का जायज़ा लेने के लिए वह दो दिनों के लिए कश्मीर पहुंचे हैं लेकिन उनके इससे भी अधिक दिन घाटी में रूकने की संभावना है। इस दौरान वह अपने पिछले दौरे की तरह ही यहां के स्थानीय लोगों से भी मुलाकात करेंगे। राज्य से धारा 370 हटाए जाने के बाद डोभाल का यह जम्मू-कश्मीर का दूसरा दौरा है।

जम्मू-कश्मीर 31 अक्टूबर को केंद्र शासित प्रदेश बन जाएगा और यहां पूरी तरह से केंद्र के कानून लागू होंगे। यही कारण है कि राष्ट्रीय सलाहकार एक बार फिर कश्मीर पहुंचे हैं, जहां पर वह मौजूदा हालात का जायजा लेंगे। अजित डोभाल यहां स्थानीय अधिकारियों, लोगों से मुलाकात करेंगे और योजनाओं को लागू किए जाने की प्रक्रिया के रास्ते तलाशे जाएंगे। इससे पहले डोभाल धारा 370 हटने के बाद लगभग पूरे 11 दिन कश्मीर घाटी में रहे थे। इस दौरान वह प्रशासनिक अमले के साथ ही यहां की आम जनता से मिले थे तथा उनके साथ खाना खाते भी दिखाई दिए थे।

Back to top button